Search
Close this search box.

मध्य प्रदेश से भटककर गाजीपुर आया नाबालिक को परिजनों को सौंपा गया

कृपा शंकर यादव ब्यूरो चीफ गाजीपुर

गाजीपुर। मध्य प्रदेश के सागर जिला से भटककर गाजीपुर आ गये नाबालिग गूंगे बहरे उमेश कुर्मी का ठिकाना ढूंढ कर बाल कल्याण समिति ने 16 घंटे के अंदर उसके परिजनों को सौंपा। जानकारी के अनुसार रेलवे सुरक्षा बल के प्रभारी को कल सुहेलदेव एक्सप्रेस से उतरा एक नाबालिग बालक मिला। रेलवे पुलिस वालों ने चाइल्ड लाइन के सदस्यों को बुलाकर बालक को उनकी सुपुर्दगी में दे दिया। चाइल्ड लाइन वालों ने बाल कल्याण समिति को तफसील से जानकारी दी। उसके बाद बालक के परिवार वालों की खोज आरंभ हुयी। बालक के पास मिले फोन से पता हुआ कि बालक का नाम उमेश कुर्मी है। वह सागर जिला के ब्लॉक रहली के पिपरिया गोपालपुर का रहने वाला है। समिति ने उसके भाई धीरज कुर्मी को बताया गया। रोस्टर ड्यूटी के मजिस्ट्रेट जयप्रकाश भारती और नीलेश सिंह ने उमेश कुर्मी के ग्राम के प्रधान कौशल किशोर कमस्या से वीडियो कॉल से संपर्क कर उमेश कुर्मी और उसके अग्रज धीरज कुर्मी की पहचान करायी। उनसे बात किया। हर प्रकार से संतुष्ट होने पर उमेश कुर्मी के भाई धीरज कुर्मी की सुपुर्दगी में उमेश को दे दिया। दोनों भाई इस तरह गले मिलकर रोने लगे। जिस तरह चित्रकूट में राम और भरत गले मिलकर रोए थे।

Also Read It

You May Like It

लाइव मैच

शेयर बाजार